in ,

50 करोड़ पटाखों में फूंके, अब इलाज में पैसा बहाइए

दिवाली पर बरेली में करीब 50 करोड़ रुपये का पटाखों का कारोबार हुआ है. लोगों ने जमकर पटाखे चलाए, जिससे दिवाली के दिन प्रदूषण का स्तर482.12 माइक्रोग्राम घनमीटर तक पहुंच गया. बच्चों से लेकर बुजुर्ग तक सभी के लिए यह परेशानी बढ़ाएगा. चिकित्सकों की सलाह है कि कम से कम आठ दिन तक सुबह-शाम का टहलना बंद रखें. सांस एवं दमा के मरीज खासतौर पर एहतियात बरतें. बच्चों को भी ज्यादा देर बाहर न खेलने दें. सांस के मरीजों के लिए यह समय ज्यादा खतरनाक है और उन्हें अस्पताल जाना पड़ सकता है.

सिंदूर नदी से बरेली तक के रोड की हालत खराब, निकलना हुआ मुश्किल

बरेली: सुन्नी बनाम शिया हुआ अजमेर न जाने के एलान का विवाद