in ,

जंक्शन और रोडवेज बस अड्डे पर उमड़ा लोगों का सैलाब

दिवाली मनाने के लिए घर जाने वालों को न ट्रेन में जगह मिलेगी और न ही रोडवेज में. आला हजरत के सौ साला उर्स में आने वाले जायरीन का सिलसिला शुक्रवार शाम से ही शुरू हो गया, जिसके चलते लखनऊ और दिल्ली की ओर से आने वाली बसें और ट्रेनें खचाखच भरी आईं. दिवाली पर सरकारी छुट्टियां मंगलवार से होंगी.

ज्यादातर लोग धनतेरस से ही घरों को निकल जाते हैं. इस बार कुलशरीफ धनतेरस को है. आला हजरत के सौ साला उर्स के कुलशरीफ के बाद घर जाने के लिए उमड़े सैलाब से ट्रेनों और बसों में जगह मिलना टेड़ी खीर है. कुलशरीफ के बाद जायरीन की वापसी का सिलसिला रात 10 बजे तक जारी रहता है.

इस दौरान शहर की सड़कों पर तिल रखने की जगह नहीं बचती. उर्स में लोग आते-जाते रहते हैं. तीन दिन तक ट्रेन में स्लीपर और साधारण कोच में बैठना क्या खड़े रहना तक मुश्किल है. ऐसे में दिवाली पर घर जाने वालों की मुसीबत रहेगी.

इज्जतनगर मंडल आला हजरत के रविवार को होने वाले कुलशरीफ के बाद जायरीन की सुविधा के लिए डेमू ट्रेन का संचालन करेगा. इज्जतनगर मंडल के डीआरएम डीके सिंह ने बताया कि रविवार को मेंटीनेंस के चलते डेमू का संचालन बंद रहता है, लेकिन ट्रेन नंबर 55335/55350 बरेली सिटी और लालकुआं के बीच चलेगी.
प्रतीकात्मक तस्वीर

आउटलेट को लड्डू सौ रुपये में, ग्राहक को 380 में क्यों?

बरेली: एसएसपी ने सुबह से लेकर रात तक कराई चेकिंग